20 दिन से चुप बैठे हैं नवजोत सिंह सिद्धू, नाराजगी ऐसी कि काम-धाम छोड़ चुके हैं, किसी के संपर्क में भी नहीं

20 दिन से चुप बैठे हैं नवजोत सिंह सिद्धू, नाराजगी ऐसी कि काम-धाम छोड़ चुके हैं, किसी के संपर्क में भी नहीं

punjab-minister-Download Navjot singh sidhu images


20 दिन से चुप बैठे हैं नवजोत सिंह सिद्धू, नाराजगी ऐसी कि काम-धाम छोड़ चुके हैं, किसी के संपर्क में भी नहींसाल 2014 में अमृतसर से अरुण जेटली को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने भारतीय जनता पार्टी छोड़ दी थी. सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी का हाथ थाम लिया था.

20 दिन से चुप बैठे हैं नवजोत सिंह सिद्धू, नाराजगी ऐसी कि काम-धाम छोड़ चुके हैं, किसी के संपर्क में भी नहीं


नई दिल्ली: पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) पिछले करीब 20 दिनों से सारे काम छोड़कर चुपचाप बैठे हुए हैं, उनका कांग्रेस (Congress)में किसी नेता से कोई संपर्क भी नहीं है. ऐसी जानकारी उनसे जुड़े सूत्रों ने दी है. सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस से नाराजगी की अब उनके पास एक और वजह है, सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर को उनकी पसंद की चंडीगढ़ सीट से टिकट देने से कांग्रेस ने मना कर दिया. इस सीट से कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता पवन बंसल को उम्मीदवार बनाया है. पहले चर्चा थी कि नवजोत कौर को अमृतसर सीट से टिकट दिया जा सकता है, जहां से अमरिंदर सिंह ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के अरुण जेटली को हराया था. लेकिन इन चर्चाओं पर भी तब विराम लग गया जब मंगलवार रात कांग्रेस ने अमृतसर लोकसभा सीट से गुरजीत सिंह ओजला को टिकट दे दिया. 

साल 2014 में अमृतसर से अरुण जेटली को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने भारतीय जनता पार्टी छोड़ दी थी. सिद्धू ने पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी का हाथ थाम लिया था. बताया जा रहा है कि मोगा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की रैली में उन्हें बोलने के लिए आमंत्रित नहीं करने पर भी वह नाराज हैं. इसके साथ ही उनके करीबी सूत्रों ने बताया कि वह इस बात से भी नाराज हैं कि वह छत्तीसगढ़ के लिए पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची में नहीं हैं, हालांकि वह देश भर में चुनाव प्रचार की मांग में बने हुए हैं.

पिछले कुछ महीनों में नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के रिश्तों में खटास आई है. इसके पीछे नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान पर दिए गया बयान है. देश के बजाय इमरान खान के साथ अपनी दोस्ती को तवज्जो देने पर पार्टी ने कथित तौर पर उन पर कुछ बंदिशें लगा दीं. 

13 लोकसभा सीटों वाले पंजाब में कांग्रेस के पास अभी चार सीटे हैं, वहीं अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को भी चार सीटें मिली थीं. इसके अलावा बाकी की सीटें अकाली-भाजपा गठबंधन को मिली थीं.

बता दें, कांग्रेस ने मंगलवार देर रात अपने 20 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की है. कांग्रेस ने पूर्व रेलमंत्री पवन कुमार बंसल को चंडीगढ़ लोकसभा सीट से जबकि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की पत्नी एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री परणीत कौर को पटियाला लोकसभा सीट से मंगलवार को टिकट दिया. वहीं गुरदासपुर से सांसद सुनील जाखड़, अमृतसर से गुरजीत सिंह ओजला, लुधियाना से रवनीत सिंह बिट्टू और जालंधर से संतोष सिंह चौधरी को उम्मीदवार बनाया है. होशियारपुर से पार्टी ने राजकुमार छब्बेवाल को टिकट दिया है.

Print

Hi...! Readers ..! also following topics:

0 Comments

Emoticon

 
tiptopguru